रेकी की परिभाषा:

रेकी एक ऐसी प्राचीन चिकित्सा की पद्वति है, जिसका नाम जापानी भाषा के मूल से बना है, क्योंकि यह साधना की एक जापानी पद्वति है। इसमें दो शब्दों ‘रे’ + ‘की’ का प्रयोग किया है। रेकी के शाब्दिक अर्थ यदि खोजें तो ‘रे’ शब्द का अर्थ है – सर्वव्यापक (निराकार, परमात्मा, ईश्वर) और ‘की’ शब्द का अर्थ है – प्राण-शक्ति, जीवन शक्ति अर्थात हमारे शरीर का वह सूक्ष्म तत्व जिस कारण से हम जीवित हैं। यानि कि रेकी एक ऐसी अद्भुत अदृश्य ऊर्जा है, जो कि सम्पूर्ण विश्व, सारे ब्रह्मांड में हमारे चारों और हर जगह विद्यमान है। यह शक्ति हर मनुष्य को जन्म के समय से ही प्राप्त हो जाती है। इस जीवन शक्ति के ‘सूक्ष्मरूप-तत्व’ जो कि हमारे शरीर में व्याप्त हैं, जिनकी वजह से हम जीवित रह पाते हैं, यही तत्व ‘रेकी-साधना’ में बहुत सहायक होते हैं। ये वे ऊर्जा या तत्व होते हैं जो होते तो हर मनुष्य के पास हैं, किन्तु इस ऊर्जा का सही तरीके से उपयोग हर किसी को करना नहीं आता। अपनी इसी ऊर्जा को जागृत कर इसका सही उपयोग करने की ‘साधना-विधि’ का नाम ही ‘रेकी’ है। हम इस ब्रह्मांड में मौजूद हर प्रकार की ‘सकारात्मक एवं नकारात्मक’ ऊर्जा से प्रभावित हो ही जाते हैं। यदि हम किसी प्रकार की नकारात्मक ऊर्जा से अधिक ग्रसित हो जाएं तो हमारे शरीर में प्रवाहित ‘प्राण-शक्ति’ ऊर्जा का प्रवाह कम हो जाता है, और हमारा शारीरिक संतुलन बिगड़ जाता है। इससे हमारा शरीर रोगों से ग्रसित हो जाता है। रेकी की ‘उपचार-विधि’ और ‘रेकी-साधना’ से हम अपनी इस जीवन शक्ति को पुनः संचालित कर सकते हैं। यह एक ऐसी ‘प्रार्थना’ या ‘साधना’ की विधि है, जिसका अध्ययन करके हम केवल स्वयं को ही नहीं, बल्कि और लोगों को भी मात्र छूकर, स्पर्श से और दूर रहकर अपनी इस अदृश्य ऊर्जा को वहाँ भेज कर किसी को भी लाभान्वित कर सकते हैं। इस प्राचीन-चिकित्सा एवं साधना की पद्धति के बारे में हम आपको आगे भी अधिक जानकारी देने का प्रयास करते रहेंगे.                  

यदि आपके पास भी इस विषय में कुछ अन्य जानकारी या सुझाव है तो हमें अवश्य लिखें.  धन्यवाद

Previous articleचुरू में खुलेगा आयुष हॉस्पिटल
Next articleश्री शनि चालीसा
भारतीय युद्ध कलाओं में मेरी रुचि शुरू से ही काफी रही है। घर की दीवार पर टंगा नॉनचक मुझे हमेशा चिढ़ाता रहता है। अलग अलग मार्शल आर्ट्स के बारे में जानने की ललक मुझमें हमेशा से ही रही। कई अलग अलग मार्शल आर्ट्स के बारे में मैं अक्सर रिसर्च करता रहता हूँ। जब भी कुछ नया सामने आता है तो कोशिश करता हूँ कि उसे एक लेख के रूप में पिरो कर आपके सामने रखूँ। इसमें युद्ध कलाओं की अधिकता होती है लेकिन इसके अलावा भी अगर मुझे कुछ लिखने का मौका मिले तो मैं चूकता नहीं।