रक्षा बंधन का समय, राखी बाँधने का समय , भद्रा नक्षत्र काल और रक्षाबंधन , रक्षा बंधन और राहुकाल , भाई बहिन का त्यौहार, रक्षा बंधन हिंदी में
ये है राखी बांधने के लिए सर्वोत्तम मुहूर्त

रक्षाबंधन सर्वोत्तम मुहूर्त 2018

राखी बांधने के लिए पंडितों ने कई मुहूर्त निकाले हैं। ये सभी मुहूर्त अलग अलग प्रकार के होते हैं। ज्योतिष के जानकारों के अनुसार 24 घण्टों में 16 घटियां या घड़ियां होती हैं और प्रत्येक मुहूर्त में 4 घटियां या घड़ियां होती हैं। ये मुहूर्त अलग अलग प्रकार के होते हैं जैसे रोग, उद्धोग, चर, लाभ, अमृत, काल, शुभ, चाल।  

26 अगस्त, 2018 को राखी बांधने के लिए अलग अलग मुहूर्त हैं। जो इस प्रकार हैं।

26 अगस्त, 2018 (रविवार)

  • प्रातः 7:43 से 9:18 तक चर
  • प्रातः 9:18 से 10:53 तक लाभ
  • प्रातः 10:53 से 12:28 तक अमृत
  • दोपहर 2:03 से 3:38 तक शुभ
  • सायं 6:48 से 8:13 तक शुभ
  • रात्रि 8:13 से 9:38 तक अमृत
  • रात्रि 9:38 से 11:03 तक चर

इस प्रकार राखी बांधने के लिए 4 प्रकार के मुहूर्त होंगे। इनमें से सर्वाधिक उत्तम मुहूर्त ‘अमृत’ समय को मन जाता है। इसके पश्चात् शुभ, फिर चर तथा इसके पश्चात लाभ मुहूर्त को माना जाता है। वैसे तो इनमें से किसी भी मुहूर्त में राखी बाँधी जा सकती है, किन्तु अमृत मुहूर्त में राखी बाँधना सर्वोत्तम माना जाता है। प्रयास करें कि अमृत मुहूर्त में ही राखी बांधें और बंधवाएं।

माँ लक्ष्मी ने किसे बांधी थी राखी और क्यों?

नोट: देश या शहर अलग होने पर ये समय भी अलग हो सकता है। अपने आसपास किसी अच्छे ज्योतिषी से मुहूर्त पूछ लें।