सूर्यग्रहण में गर्भवती महिलाएं रखें इन बातों का ध्यान

सूर्य ग्रहण 2018, सूर्य ग्रहण 2018 in india, सूर्य ग्रहण 2018 में कब है, 2018 का सूर्य ग्रहण कब लगेगा, सूर्य ग्रहण कब लगेगा 2018, ग्रहण 2018 भारत, सूर्य ग्रहण 13 जुलाई 2018
सूर्यग्रहण : गर्भवती महिलाएं रखें इन बातों का ध्यान

13 जुलाई, 2018 शुक्रवार के दिन होने वाला सूर्यग्रहण आंशिक सूर्यग्रहण है। ये भारत में दिखाई भी नहीं देगा। लेकिन फिर भी हम आपको बताना चाहते हैं कि सूर्यग्रहण में गर्भवती महिलाएं रखें इन बातों का ध्यान तो नहीं होगी कोई समस्या। गर्भवती महिलाओं को कुछ विशेष बातों का ध्यान रखने को कहा जाता है। इनमें से कुछ वैज्ञानिक तथ्य हैं, तो कुछ हमारी पुरानी मान्यताएं हैं। निरर्थक बहस में न पड़ते हुए हम सीधा आपको यहाँ उन बातों से अवगत करवा देते हैं। गर्भवती महिलाओं को किन-किन बातों का ध्यान रखने के बारे में कहा जाता है। सूर्यग्रहण से सम्बंधित विभिन्न संस्कृतियों में किस-किस तरह की मान्यताएं हैं।

ये न करें (do not do this)

सूर्यग्रहण के समय गर्भवती स्त्री के द्वारा किये गए विभिन्न कार्यों का बच्चे के शारीरिक विकास पर प्रभाव पड़ता है। यहाँ बताये जा रहे हैं वे काम जो एक गर्भवती स्त्री को सूर्यग्रहण के समय में कभी भी नहीं करने चाहिए।

  • सिलाई कढाई आदि का कार्य न करें। सूर्यग्रहण के समय सुई का प्रयोग निषेध है।
  • सुई के साथ साथ साथ कील आदि चुभोने वाली नुकीली चीज़ों का प्रयोग भी नहीं करना चाहिए। दीवार, लकड़ी इत्यादि में कील ठोकना भी निषेध है। 
  • चाकू, कैंची आदि का प्रयोग नहीं करना चाहिए, इससे बच्चा रोगी पैदा हो सकता है।
  • किसी खुरदरी चीज़ से बर्तन नहीं रगड़ने चाहिए। सूर्यग्रहण अधिक देर के लिए नहीं होता, अतः प्रयास करें कि ये कार्य थोड़ी देर के लिए टाल दें। 
  • फल, फूल, पत्ते तथा तिनके आदि नहीं तोड़ने चाहिए।
  • सूर्यग्रहण को नहीं देखना चाहिए। अपनी उत्सुकता पर काबू रखें। यदि देखना ही चाहते हैं तो टीवी इत्यादि में देख लें।
  • सूर्यग्रहण के समय सोयें नहीं। 
  • ग्रहण के समय खाना नहीं पकाना चाहिए
  • कुछ लोग मानते हैं कि इस दौरान पानी भी नहीं पीना चाहिए। तो उसका एक उपाय ये है कि पानी के बर्तन में तुलसी के पत्ते डाल के रख लें। और प्यास लगने पर उसे पी सकते हैं। अधिक प्यासे रहना आपके लिए हानिकारक हो सकता है।

13 जुलाई के सूर्यग्रहण का ये होगा समय

शास्त्रों के अनुसार सूर्यग्रहण के समय इसकी किरणें इतनी अधिक प्रभावशाली होती हैं कि यदि गर्भवती महिला सूर्यग्रहण देखे तो बच्चा विकलांग भी पैदा हो सकता है।   

गर्भ में पल रहा शिशु बहुत ही कोमल होता है। उस पर छोटी छोटी चीज़ों का भी गहरा असर हो सकता है। सूर्यग्रहण के समय सूरज की किरणें अधिक तीव्र एवं प्रभावशाली हो जाती है। इसलिए प्रयास करें कि सूर्यग्रहण के समय बाहर न निकलें। ये माना जाता है कि कटे होंठों (क्लिप लिप्स) के साथ या अजीब जन्मचिन्हों के साथ पैदा होने वाले बच्चे वास्तव में ग्रहण के प्रभाव के कारण ऐसे होते हैं। इन बातों का कोई वैज्ञानिक प्रमाण तो नहीं मिलता लेकिन फिर भी अधिकतर लोग इन बातों का ध्यान रखते हैं।

इन बातों को लेकर किसी तरह को कोई एक्सपेरिमेंट न करें। बड़ों की बात मानें और घर के भीतर ही रहे। इसमें कोई बुराई नहीं है।

By 13th TV

मैं समूह हूँ ऐसे मित्रों का जो महत्वकांशी तो हैं किन्तु जिनकी महत्वाकंशाएं हैं कि वे इतना योग्य बन सकें कि दूसरों का अधिक से अधिक भला कर सकें। ये ऐसे मित्र हैं जो सबको स्वास्थ्य प्रदान करने वाला Web TV Channel खोलना चाहते हैं। मेरी आयु, मेरी वृद्धि और मेरा विकास इन्हीं के परिश्रम पर निर्भर करता है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *