रेकी सीखे, रेकी चिन्ह, रेकी साधना, रेकी चिकित्सा, रेकी मास्टर, रेकी करना, रेकी कैसे करे, रेकी हीलिंग
रेकी से हो सकता है समाज का भला (heal society with reiki cosmic energy)

स्वस्थ तन और मन सबको चाहिए, प्रयास भी किया जाता है। लेकिन फिर भी परिणाम शून्य। ऐसे में यदि कोई एक चिकित्सा पद्धति समाज को हर स्तर पर स्वास्थ्य प्रदान करने में सक्षम होने का दावा करती है तो हैरानी तो होगी ही। रेकी वास्तव में ही एक ऐसी अनोखी एक चिकित्सा पद्धति है। जिसे इस श्रेणी में रखा जा सकता है।

यहाँ जानें: रेकी क्या है?

इसी विषय में बात हुई ‘रेकी चिकित्सक श्रीमती कामिनी मेंदिरत्ता’ जी से उस बातचीत के कुछ अंश यहाँ प्रस्तुत हैं।

प्र०:- आपने रेकी क्यों सीखी थी, क्या कोई खास वजह थी?

उ०:- दरअसल प्रिंसिपल की पोस्ट से रिटाएर होने के बाद खालीपन सा लगता था। बेटा यू.एस.ए. में और बेटी लुधियाना में थी। जब अकेलापन ज़्यादा खलने लगा तो मैंने एक्युप्रेशर (Acupressure) सीख लिया। उसके बाद जब रेकी (Reiki) के बारे में पता चला तो इंटरेस्टिंग सा लगा। फरवरी 2009 में मैंने रेकी भी सीख ली। दिल भी लग गया और लोगो का भला करके अच्छा भी लगने लगा। उसके बाद Tarot रीडिंग भी सीख ली।

प्र०- तो आपके पास कोई अगर अपनी कोई समस्या लेकर आता है तो आप उसका टैरो देखती हैं या रेकी हीलिंग करती हैं?

उ०- पहले मैं टैरो से ये देखती हूँ कि मरीज़ ठीक होगा या नहीं। फिर उसके बाद ये देखती हूँ कि अब इसका इलाज किस तरह शुरू किया जाये। अब मेरा तो बैकग्राउंड ही पढ़ाने का था तो इसलिए मैंने ये सब सीखने के बाद रेकी सिखाना भी शुरू कर दिया।

यहाँ जानें: रेकी जैसी अलौकिक शक्तियाँ ऋषियों के पास भी थी: विकास दुग्गल

प्र०:- रेकी (Reiki) सीखने के बाद आपके निजी जीवन पर क्या फर्क पड़ा?

उ०:- रेकी (Reiki) सीखने से पहले मैं बात-बात पे खीझ जाया करती थी। लेकिन अब नहीं, अब मैं शांत हूँ। रेकी करती हूँ इसलिए उसका पॉजिटिव असर होता है।

प्र०:- अगर कोई रेकी सीखना चाहे तो क्या इसके भी स्तर या डिग्री होती है?

उ०:- जी हाँ बिलकुल। इसके लेवेल्स होते हैं।

यहाँ पढ़ें: जी हाँ रेकी में हर बीमारी का इलाज है, वहम का भी: मन्नत राजपूत

  • (1st Level of Reiki) पहले स्तर में रेकी सीखने वाले के शरीर में चक्रों में उर्जा प्रवाहित की जाती है। मेडीटेशन (ध्यान एकाग्र करना) तथा उर्जा का सही प्रयोग करना सिखाया जाता है।  
  • (2nd Level of Reiki) रेकी के दूसरे स्तर में कुछ चिन्ह (Simbles) सिखाये जाते हैं। जो रेकी हीलिंग के असर को 10 गुना बढ़ा देते हैं।
  • (3rd Level / Master of Reiki) तीसरे स्तर को मास्टर लेवल कहा जाता है। इस लेवल में मास्टर चिन्हों (Master Simbles) का प्रयोग करना सिखाया जाता है। साथ ही इसमें क्रिस्टल बॉल (Crystal Ball) का प्रयोग करना भी सिखाया जाता है।

प्र०:- क्या आप अपनी निजी ज़िन्दगी में या अपने परिवार पर रेकी (Reiki) का प्रयोग करती हैं?

उ०:- हाँ बिलकुल करती हूँ। बल्कि मेरी बेटी तो खुद मुझसे कहती है कि मेरी रेकी कर दो। जब कहीं किसी काम के लिए जाती है तो मुझे रेकी (Reiki) करने के लिए कहती है। यू.एस.ए. बैठे अपने बेटे को यहीं से उर्जा भेजती हूँ। इसे डिस्टेंस हीलिंग (Distance Healing) कहते हैं। खाना बनाते समय खाने की रेकी करके उसकी नकारात्मकता दूर करती हूँ। खाना परोसते टाइम रेकी चिन्हों का प्रयोग करती हूँ और इसका असर दिखता भी है घर की सुख शान्ति के रूप में।

यह भी पढ़ें: क्या हैं रेकी के रहस्य : डॉ लवीना गुप्ता से जानें

प्र०: रेकी हीलर किस तरह से समाज की सेवा कर सकते हैं या आप कैसे करती हैं?

उ०: बड़ा आसान है। मैं तो करती हूँ। कभी पार्क में सैर करते हुए कोई परेशान व्यक्ति मिल गया तो उसके लिए ईश्वर से प्रार्थना कर देती हूँ। ट्रेन में एक बार एक बीमार मिल गया था तो उसकी हीलिंग कर दी। एन.टी.पी.सी. जैसी बड़ी कंपनी के कर्मचारियों का मुफ्त में रेकी उपचार किया। शॉपिंग करने के लिए एक नामी एम्पोरियम में गयी थी तो रिसेप्शन पर बैठी लड़की को कलेजे की सूजन (Lever Swallowing) की समस्या थी दर्द से भी परेशान थी। तो उसी टाइम उसका उपचार किया। जब उस लड़की ने अगले दिन फ़ोन करके बताया की वो अब ठीक है तो अच्छा लगा। बड़ी ख़ुशी मिलती है जब हमारी वजह से किसी की कोई बीमारी, कोई रोग, कोई समस्या दूर हो जाती है तो। ऐसे आप भी कर सकते हैं।

यहाँ जानें: ऐसा चमत्कारिक उपाय जो एक  मिनट में आपकी सारी नेगेटिविटी को ख़त्म कर देगा

कामिनी मेंदिरत्ता जी से किसी भी समस्या के बारे में हम बात कर रहे थे तो वो इसका हल साथ के साथ ही बताये जा रही थी। यदि हम इस चर्चा को और आगे बढ़ाते तो शायद चर्चा के अंश चुन कर एक लेख के रूप में आप तक पहुँचाना हमारे लिए कठिन हो जाता। इसलिए हमने इस चर्चा को यहीं विराम दिया और दोबारा जल्दी मिलने का वादा करके विदा ली।

और वापिस आते समय मन में एक ही विचार घूम रहा था कि यही है सही मायने में वाणप्रस्थाश्रम। रिटायरमेंट के बाद रेकी सीख कर समाज का भला करने से बेहतर क्या हो सकता है।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here