शिवरात्री में शिवजी की पूजा कैसे करें

महाशिवरात्रि में शिवजी की पूजा कैसे करें। इस प्रश्न का उत्तर देने से पहले मैं आपको ये याद दिला दूँ कि भोलेनाथ बहुत ही आसानी से प्रसन्न हो जाते हैं, किन्तु इसका अर्थ ये तो नहीं कि हम बिना किसी विधि विधान के ही पूजा कर दें। यदि सरलता से शिव पूजन करना आपकी विवशता… Continue reading शिवरात्री में शिवजी की पूजा कैसे करें

कैसे शुरू हुई कांवड़ यात्रा की परम्परा

क्या है कांवड़ यात्रा?

क्या है कांवड़ यात्रा? हर साल सावन के महीने में लाखों की संख्या में कांवड़िए दूर-दूर स्थानों से गंगा जी आते हैं। और कांवड़ में गंगाजल भरकर पैदल ही यात्रा करके अपने निवास स्थान पर लौटते हैं। इस यात्रा को कांवड़ यात्रा बोला जाता है। सावन की चतुर्दशी के दिन उस गंगाजल से अपने निवास… Continue reading कैसे शुरू हुई कांवड़ यात्रा की परम्परा

शिव पार्वती विवाह कथा

शिव पार्वती विवाह कथा

विभिन्न धार्मिक ग्रंथों में आपने शिव पार्वती विवाह कथा के विषय में पढ़ा होगा। यहाँ हम आपको उस शुभ विवाह की संक्षेप कथा सुनाने जा रहे हैं, जिसमें शिव एवं शक्ति का विवाह हुआ था। पर्वतराज हिमवान और रानी मैना देवी जी के यहां मां दुर्गा ने एक कन्या के रूप में जन्म लिया था।… Continue reading शिव पार्वती विवाह कथा

सोमवार व्रत कथा

सोमवार व्रत कथा

  एक समय की बात है कहीं एक बहुत धनवान साहूकार रहा करता था। उसके पास खूब धन-संपत्ति थी। किन्तु उसकी कोई संतान नहीं थी। इस कारण वो हमेशा दुखी रहता था। वह शिव भक्त था। साहूकार संतान प्राप्त करने की इच्छा से प्रत्येक सोमवार शिवजी की पूजा करता। वह व्रत रखता और सायंकाल को… Continue reading सोमवार व्रत कथा

सोमवार व्रत करने की सम्पूर्ण विधि

सोमवार व्रत करने की सम्पूर्ण विधि

सोमवार व्रत के नियम :  सोमवार के व्रत तीन प्रकार के होते हैं। सामान्य सोमवार व्रत, सोम्य प्रदोष व्रत एवं सोलह सोमवार। इन व्रतों में नियम अलग नहीं है। इन तीनों व्रतों के नियम एक जैसे ही हैं। केवल व्रत कथा तथा व्रत कब करें इसके समय का फर्क है। एक ही प्रकार से परमपिता… Continue reading सोमवार व्रत करने की सम्पूर्ण विधि

सोलह सोमवार व्रत से जुड़ी एक पौराणिक कथा

सोलह सोमवार व्रत से जुड़ी एक पौराणिक कथा

यह पौराणिक कथा सोलह सोमवार से जुड़ी है। इस कथा के अनुसार सोलह सोमवार का व्रत करने से आपके सभी पाप कट जाते हैं। यह व्रत रंक को राजा बनाने की क्षमता रखता है। सोलह सोमवार से जुड़ी कई कथाएं प्रचलित हैं। यहाँ जो कथा आपको बताने जा रहे हैं। ये सोलह सोमवार व्रत से… Continue reading सोलह सोमवार व्रत से जुड़ी एक पौराणिक कथा

सावन के पांचो सोमवार की पूजा विधि एवं उनका महत्व

सावन के पांचो सोमवार की पूजा विधि एवं उनका महत्त्व

सावन में हर सोमवार को भगवान् शिव जी की पूजा करने की अलग-अलग विधियाँ है। और अधिक फलदाई होता है। पहला सोमवार:- सुबह उठकर नहाने के पानी में गंगाजल डाल कर स्नान करें। स्वेत या पीले रंग के वस्त्र धारण करें। फिर भोलेनाथ की पूजा आराधना करें। धूप दीप जलाकर, “ॐ लक्ष्मी प्रदाय ह्रीं ऋण… Continue reading सावन के पांचो सोमवार की पूजा विधि एवं उनका महत्व

शिव जी की आरती

शिव जी की आरती यहाँ दी जा रही है। आरती के विषय में एक बात का ध्यान अवश्य रखें कि आरती हमेशा खड़े होकर की जाती है। यदि आप अपनी किसी शारीरिक स्थिति के कारण उठ नहीं सकते तो अलग बात है। किन्तु सामान्य स्थिति में आरती खड़े होकर ही करनी चाहिए। सारा पूजा पाठ… Continue reading शिव जी की आरती

सावन मास में ऐसे करें भगवान् शंकर जी की पूजा

सावन मास में ऐसे करें भगवान् शंकर जी की पूजा

भारत में सावन का महीना सभी दूसरे महीनो में से सबसे अच्छे मौसम वाला महीना माना जाता है। इस माह में ना अधिक गर्मी होती है और ना ही अधिक सर्दी। सावन का महीना जुलाई के उत्तरार्ध में पूर्णिमा के पहले दिन से और अगस्त के पहले सप्ताह में समाप्त हो जाता है, जो पूर्णिमा… Continue reading सावन मास में ऐसे करें भगवान् शंकर जी की पूजा

श्री शिव चालीसा

शिव चालीसा

॥दोहा॥ जय गणेश गिरिजा सुवन, मंगल मूल सुजान। कहत अयोध्यादास तुम, देहु अभय वरदान॥ ॥चौपाई॥ जय गिरिजा पति दीन दयाला। सदा करत संतन प्रतिपाला॥ १ ॥    भाल चंद्रमा सोहत नीके। कानन कुण्डल नागफनी के॥ २ ॥ अंग गौर शिर गंग बहाये। मुण्डमाल तन छार लगाए॥ ३ ॥ वस्त्र खाल बाघम्बर सोहे। छवि को देखि… Continue reading श्री शिव चालीसा