श्री गणेश जी की आरती

गणेश जी की आरती

श्री गणेश जी की आरती श्री गणेश जी की आरती के lyrics यहाँ हिंदी में दिए जा रहे हैं। यहाँ प्रदान की गई आरती एक JPEG इमेज के रूप में दी गई है। आप आसानी से उसे डाउनलोड कर भी कर सकते हैं। आप यहाँ दी गई गणेश जी की आरती डाउनलोड कर के अपने पास रख… Continue reading श्री गणेश जी की आरती

शनि दोष के 31 उपाय (साढ़ेसाती, ढैया और शनि महादोष)

ये 31 उपाय आपके शनि दोष के कष्ट समाप्त कर देंगे

ये 31 उपाय आपके शनि दोष के कष्ट समाप्त कर देंगे साढ़ेसाती यदि किसी जातक पर चल रही है तो उसके लिए ये बहुत कष्टकारी हो सकती है। उसे शीघ्र ही श्री शनिदेव जी को शांत करने के उपाय करने चाहिए। हम यहाँ कुण्डली में पर विचार नहीं कर रहे अपितु सीधा आपको शनि दोष के उपाय… Continue reading शनि दोष के 31 उपाय (साढ़ेसाती, ढैया और शनि महादोष)

क्यों करते हैं गया में श्राद्ध?

with Courtesy to: gaya.nic.in/ गया, बिहार जहाँ पितरों का श्राद्ध करने के लिए दूर दूर से आते हैं लोग

क्यों मिलता है ‘गया’ में श्राद्ध और पिंडदान करने से मोक्ष? ‘गया’ भारत के बिहार राज्य में स्थित एक हिन्दुओं का बहुत ही महत्त्वपूर्ण तीर्थ स्थल है। गया स्थान से लगभग 10 किलोमीटर पर एक स्थान है जिसका नाम है ‘बोध गया’। जहाँ पर भगवान् बुद्ध ने ज्ञान अर्जित किया था। बुद्ध ऋषि ने ही बौध… Continue reading क्यों करते हैं गया में श्राद्ध?

कब कौन सा श्राद्ध है (2018)

यदि आप पितृ दोष निवारण का सरल उपाय खोज रहे हैं तो याद रखें सही समय तथा सही विधि से श्राद्ध करने का उपाय ही आपको पितृ दोष से मुक्ति दिलाएगा

यदि आपको श्राद्ध कर्म विधि या श्राद्ध के नियम का पूरा ज्ञान है तो आपको इस बात का ज्ञान अवश्य होगा कि श्राद्ध सही समय पर ही करने चाहिए। पितृ आपके किये गए श्राद्ध को तभी भोग पाते हैं जब श्राद्ध कर्म उसी समय किया जाये जब उसका मुहूर्त है। पितृ दोष से पीड़ित अधिकतर… Continue reading कब कौन सा श्राद्ध है (2018)

ऐसे करें श्राद्ध, बनेंगे रुके हुए काम, होगी उन्नति (सम्पूर्ण श्राद्ध विधि)

सम्पुर्ण श्राद्ध विधि

श्रद्धा से करें श्राद्ध, पाएं पूर्वजों का आशीर्वाद होंगी जीवन की सभी बाधाएं दूर एक कथा आती हैं कि भगवान श्री राम जी द्वारा जब अपने मृत पिता राजा दशरथ का श्राद्ध कर्म किया गया। स्वर्गीय राजा दशरथ उस श्राद्ध कर्म को स्वीकार करने के लिए वहीं उपस्थित हो गए थे। जिन्हें देख कर माँ… Continue reading ऐसे करें श्राद्ध, बनेंगे रुके हुए काम, होगी उन्नति (सम्पूर्ण श्राद्ध विधि)

कहीं आपमें भी तो नहीं शनि दोष के ये लक्षण

शनि दोष के लक्षण क्या हैं?

ये 18 लक्षण बता देंगे कि आप शनि दोष से प्रभावित हैं या नहीं दंडाधिकारी श्री शनिदेव जी के विषय में कई भ्रम फैले हुए हैं। कुछ लोगों का ये मानना है कि श्री शनिदेव जी की छाया सिर्फ बुरा फल ही देती है, किन्तु ये सत्य नहीं है। वास्तव में श्री शनिदेव जी आपको… Continue reading कहीं आपमें भी तो नहीं शनि दोष के ये लक्षण

गणेश जी की उत्पत्ति और गणेश चतुर्थी का महत्व

गणेश चतुर्थी के पूजन से जीवन के सभी प्रकार के विघ्नों का नाश होता है

गणेश चतुर्थी गणेश जी, शिवजी और माता पार्वती के दूसरे पुत्र हैं। इनके बड़े भाई का नाम कार्तिकेय तथा बहन का नाम अशोक सुंदरी है। सभी पूजा-पाठ में सर्वप्रथम गणेश जी की पूजा की जाती है। गणेश जी की दो पत्नियां हैं, जिनका नाम रिद्धि और सिद्धि है। गणेश जी के दो पुत्र हैं, जिनके… Continue reading गणेश जी की उत्पत्ति और गणेश चतुर्थी का महत्व

हरितालिका तीज व्रत : महत्व, नियम, सामग्री, कथा एवं पूजा विधि

भगवान् शिव की पूजा से सम्बंधित है यह तीज व्रत

भगवान् शिव की पूजा से सम्बंधित है यह तीज व्रत  यह व्रत भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष को तृतीया तिथि में किया जाता है। यह व्रत बिना अन्न और जल ग्रहण किए निराहार रहकर किया जाता है। इस व्रत के दिन महिलाएं एवं कन्यायें भगवान शिव और माता पार्वती की प्रतिमा स्थापित करके उनकी विधि… Continue reading हरितालिका तीज व्रत : महत्व, नियम, सामग्री, कथा एवं पूजा विधि

अमेरिका के इन मंदिरों में अवश्य करें दर्शन

अमेरिका के इन मंदिरों में अवश्य करें दर्शन

विदेशों में बने है दर्शनीय हिन्दू धर्म स्थल (scenic hindu places of worship made in foreign countries) विदेश में जाकर अधिकतर भारतीय और सुविधाओं के साथ साथ अपने आसपास धार्मिक स्थल अवश्य ढूँढ़ते हैं। अमेरिका में भारत की भांति जगह-जगह मंदिर तो नहीं किन्तु मंदिर हैं अवश्य। अमेरिका के हिन्दू मंदिर सुन्दर और बड़े तो… Continue reading अमेरिका के इन मंदिरों में अवश्य करें दर्शन

क्यों लिया भगवान विष्णु ने श्रीकृष्ण का अवतार?

भगवान श्री हरि अर्थात विष्णु जी के श्री कृष्ण के रूप में अवतार लेने के कई कारण थे

भगवान विष्णु ने पृथ्वी को पापों से मुक्त तथा राक्षसों का संहार करने के लिए भाद्रपद माह की रोहिणी नक्षत्र में मध्य रात्रि को कृष्ण पक्ष की अष्टमी में भगवान कृष्ण के रूप में अवतार लिया। जन्माष्टमी भारत में ही नहीं बल्कि विदेश में भी जो भारतीय बसे हैं, वह भी पूरी आस्था और उत्साह… Continue reading क्यों लिया भगवान विष्णु ने श्रीकृष्ण का अवतार?