आलू के फायदे और नुकसान, आलू के औषधीय गुण, आलू से होने वाले लाभ,ऐसे कभी न खाएं आलू, आलू के लाजवाब फायदे, आलू के विशेष गुण, आलू के अजब-गजब गुण, खांसी होने पर आलू का उपयोग, उच्च रक्तचाप में आलू के लाभ, दांतों के रोगों को दूर करे आलू, गुर्दे में पथरी को निकालने में सहायक आलू
आलू के 6 चमत्कारी औषधीय गुण

आलू भी है एक औषधि (potato is a medicine)

जैसा कि हम सभी लोगों को पता है कि हमारे जीवन में आलू का एक अपना ही महत्व है। आलू की महत्वता को देखते हुए इसे सब सब्जियों का राजा कहा जाता है। आलू हर सब्जी के साथ प्रयोग में आता है। आलू, गेहूं, धान, मक्का के बाद भारत में सबसे ज्यादा उगाया जाता है। इसके उत्पादन में भारत तीसरे नंबर पर आता है। प्रत्येक वर्ष भारत में लगभग 24 मिलियन मीट्रिक टन आलू उत्पादन किया जाता है। आलू की खेती भारत के उत्तर प्रदेश में अत्यधिक मात्रा में होती है।

अदरक के 10 औषधीय गुण

ये सब बनता है आलू से (what is made of potato)

आलू से क्या नहीं बनता यह बताना हमारे लिए समुद्र में एक अंगूठी ढूंढने जैसा है। दोस्तो आलू से हम सब्जी, पकोड़े, चिप्स, पापड़, हलवा, पराठा, नमकीन ऐसी कई अनेक चीज़ें बना सकते हैं। आलू से बनी इन चीज़ों को हम आराम से कई महीनों तक इस्तेमाल भी कर सकते हैं। आलू का उपयोग शादी-विवाह, जन्मदिन या किसी भी त्यौहार पर किया जाता है।यहाँ तक कि जो हमारे भारत में साधू-संत हैं वो भी आलू को अपने फल (फलाहार) के रूप में ग्रहण करते हैं। अक्सर देखा जाता है कि भारत के साथ-साथ विदेशों में लोग व्रत के समय आलू को ही फलाहार के रूप में खाते हैं।

आलू के औषधीय गुण (medicinal properties of potato)

आज हम आपको आलू के औषधीय गुण और अवगुण के बारे में बताने जा रहे हैं। आलू हमारे जीवन में किन-किन बीमारियों में औषधि का काम करता है नीचे वर्णन किया गया है।

1. जल जाने पर ऐसे करें प्रयोग (what to do if you burn)

अगर आपका शरीर का कोई भाग आग से जल गया है। तो जले हुए स्थान पर छाला पड़ने से पहले कच्चे आलू को पीसकर लेप की तरह लगा लीजिए। ऐसा करने से आपके जलने वाले स्थान पर जलन नहीं होगी। ऐसा करने से छाले भी नहीं उभरेंगे और इसी के साथ-साथ जलने का घाव भी जल्दी ही ठीक हो जाता है।

2. उच्च रक्तचाप होने पर ऐसे प्रयोग करें आलू (how to treat high blood pressure with potatoes)

यदि कोई भी रोगी उक्त रक्तचाप से पीड़ित है। तो, कुकर में पानी और नमक डालकर आलू उबालकर छिलके सहित खाएं। इससे रोगी को राहत मिलेगी।

हल्दी के 20 औषधीय गुण

3. आखों में फूली या जाला हो तो ऐसे करें इस्तेमाल (what to do when blooming or jelly in eyes)

अगर आपकी आंखों में फूली या जाला नामक बीमारी है। सर्वप्रथम एक आलू लें और इसे अच्छी तरह से धोकर साफ कर लें। इसके बाद एक पत्थर की शिला पर इस आलू को काटकर उसके टुकड़े को रगड़ें। और उसे अपने आंख में काजल की तरह दिन में 2 बार लगाएं। ऐसा 3 महीने तक करें। इससे आपकी लगभग 4 वर्ष पुरानी आखों में फूली या जाला नामक बीमारी दूर हो जाएगी। (किसी अच्छे वैद्य, आयुर्वेदिक चिकित्सक की सलाह से ही इसका प्रयोग करें।)

4. बलगम वाली खांसी आने पर गुड़ के साथ ऐसे करें प्रयोग (what to do if mucus cough)

अगर किसी को बलगम वाली खांसी आ रही हो। तो आलू को आग में भूनकर, गरम आलू गुड़ के साथ सेवन करें। ऐसा करने से आपकी खांसी गायब हो जाएगी और बलगम भी समाप्त हो जाएगा।

5. दांतों के रोगों में ऐसे करेगा असर (how potatoes will affect dental diseases)

अगर आपकी दांत की हड्डियाँ सूख गयी हो। दातों में हल्का दर्द हो। मसूड़ों से रक्त निकलता हो या मसूड़े सूज गए हों।तो, आलू को आग में भूनकर छिलके सहित खाएं इससे आपको आराम मिल जाएगा। आप इसका पतला सूप बनाकर भी पी सकते हैं।

6. गुर्दे में पथरी हो तो (if you have stones in kidney, use potato like this)

अगर किसी को गुर्दे में पथरी हो जाये तो उसे आलू प्रतिदिन सेवन करना चाहिए। इसके साथ-साथ अपनी क्षमता के अनुसार जितना हो सके अधिक से अधिक मात्रा में पानी पीना चाहिए। इससे पथरी निकल जाती है और रोगी को आराम मिल जाता है।

(किसी अच्छे वैद्य, आयुर्वेदिक चिकित्सक की सलाह से ही इस तरह के प्रयोग करें।)

आंवला ऐसे रख सकता है आपको हमेशा जवान